विटामिन K के फायदे, नुक्सान, स्त्रोत, जरूरत (पूरी जानकारी) – Source Of Vitamin K In Hindi

विटामिन के हमारे शरीर की ग्रोथ और सरंचना बनाये रखने के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। यह हमारे शरीर में प्रोटीन बनाने में हेल्प करता है। जिससे हमारी हड्डियां स्वस्थ और मजबूत रहती है। विटामिन के का महत्वपूर्ण काम खून को जमाये रखना है। यह हमारे खून को जमाये रखने के लिए प्रोटीन का निर्माण करता है।

अगर हमारे शरीर में विटामिन के की कमी हो जाए तो चोट लगने पर खून का बहाव ज्यादा बढ़ जाता है। जिससे हमारे शरीर को बहुत नुक्सान हो सकता है। हमारी मृत्यु भी हो सकती है। इसकी कमी ज्यादातर बड़े बूड़ो में या नवजात शिशु में पाई जाती है। इसके स्तर को बनाये रखने के लिए हमें विटामिन के के स्त्रोत खाने चहिये। विटामिन के की पूरी जानकारी जानने के लिए लेख को पूरा पढ़े।

Source Of Vitamin k in Hindi – विटामिन K के प्रमुख स्त्रोत

विटामिन के एक वसा में घुलनशील पदार्थ है। जिसके दो प्रकार है एक है विटामिन k1 जो हमें हरी सब्जियों से प्राप्त होता है। जैसे – पालक, सरसों, ब्रॉक्ली, गोभी, मटर आदि इसके मुख्य स्त्रोत है।
विटामिन k2 – यह हमें पशुओं से मिलता है। जैसे – चिकन, सोया मिल्क, मीट, लिवर, पनीर आदि इसके मुख्य स्त्रोत है।

Source Of Vitamin K Hindi, source Of Vitamin K1 And K2
Vitamin K Food chart

Read Also:-

विटामिन डी के स्त्रोत, फायदे, नुकसान (पूरी जानकारी)- Vitamin d Sources in Hindi


विटामिन क्या है (पूरी जानकारी) What is Vitamin In Hindi

Vitamin k Rich Foods List in Hindi

Vitamin K Vegetables List in Hindi

[table id=11 /]

Vitamin K Fruits list in Hindi

[table id=12 /]

Vitamin K Diary Product list In Hindi

[table id=13 /]

Vitamin K Daily Requirement In Hindi:- विटामिन K की हर रोज की जरूरत

Vitamin K Daily Requirement In Hindi
Vitamin K

विटामिन K के फायदे – Benefits of Vitamin K in hindi

Benefits of vitamin k in hindi

विटामिन K हमारी हड्डियों और घाव को ठीक करने में मत्वपूर्ण रोले निभाता है। अमेरिका में एक शोध के अनुसार यह हड्डियों को मजबूत बनाये रखने में आवश्यक 13 प्रोटीन में से 4 का निर्माण करता है। चोट लगने पर होने वाले खून के बहाव को रोकता है जैसा की आपने कभी देखा होगा।

जब कभी हमें चोट लगती है तो कुछ देर बाद खून का बहाव रुक जाता है,और चोट पर एक काली परत बन जाती है। यह विटामिन K के कारण होता है। जब हमारे शरीर की धमनियों में कैल्शियम का जमाव होने लगता है तो विटामिन के जमाव को रोकता है और खून के जमाव को बनने में भी रोकता है। जिससे हार्ट-अटैक का खतरा कम हो जाता है। यह हमारे पाचन तंत्र को भी मजबूत बनाये रखता है।

विटामिन K की कमी – Deficiency Of Vitamin K in Hindi

K की कमी होने पर बहुत सारे लक्ष्ण दिखाई देते है। पर चोट लगने पर रक्त का ज्यादा बहाव होना इसका एक मुख्य लक्षण है। विटामिन क की कमी ज्यादा तर छोटे बच्चों में दिखाई देती है। क्योकि पैदा होते ही इनका शरीर विटामिन क को बनाने में असक्ष्म होता है। और भोजन में माँ का दूध काफी नहीं होता है। इसलिए सरकार छोटे बच्चों के स्वास्थ्य का पूरा जिम्मा उठती है वो भी फ्री। इसके कुछ मुख्य लक्षण और दिखाई देते है बड़ो और बच्चों में। जैसे खून का आदिक बहाव बाहरी और भीतरी अंगो में, पेशाब में खून आना, मासिक धर्म में ज्यादा ब्लड आना,मसूड़ों में खून आना या दांतो का कमजोर होना (हालांकि इसके कुछ और भी कारण हो सकते है) नशों में खून का जमना आदि इसके मुख्य कारण हो सकते है।

विटामिन K के दुष्प्रभाव – Side Effect Of Vitamin K In Hindi

जी हाँ, विटामिन क के ज्यादा लेने पर इसके दुष्परिणाम भी हो सकते है। वैसे तो एक स्वस्थ आहार के साथ लिया गया विटामिन क के कोई दुष्परिणाम नहीं होते। लेकिन कुछ लोग इसे सप्लीमेंट या दवाइयों से लेना चाहते है। जिसके कम ज्यादा मात्रा होने पर इसके दुष्परिणाम दिखाई देने लगते है। जैसे:-

  1. भूख का कम लगना
  2. शरीर में कमजोरी
  3. चिड़चिड़ापन होना
  4. तनाव
  5. साँस लेने में तकलीफ होना
  6. मांसपेशियों में ऐंठन
  7. अगर आपको इस प्रकार की कोई भी कमी दिखाई दे तो डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

आप इसके बारे में वीडियो से भी जान सकते है।

Leave a Comment