विटामिन डी के स्त्रोत, फायदे, नुकसान (पूरी जानकारी)- Vitamin d Sources in Hindi

विटामिन डी वसा में घुलनशील विटामिन है। जो हमे पशुओ से प्राप्त होता है जैसे मीट,मछली,और डायरी प्रोडक्ट से प्राप्त होता है। इसका मुख्य कार्य हमारी हड्डियों को मजबूत और सवस्थ बनाये रखना है। यह हमारी शरीर की वसा में जमा होता है। अगर वसायुक्त पदार्थ पचने में हममे परेशानि हो तो ये विटामिन डी की कमी का एक लक्ष्ण हो सकता है। यह हमारे शरीर में कैल्शियम और फॉस्फोरस की मात्रा को बनाये रखता है।
इसका मुख्य स्त्रोत सूर्य धुप की है।आइये विटामिन डी के बारे में विस्तार से पढ़े-

Function Of Vitamin D In Hindi

विटामिन डी हमारे खून में कैल्शियम और फोस्फोरोस का स्तर बनाये रखता है। जो हमारी हडियो और दातों को स्वस्थ रखता है। हमारे इम्यून सिस्टम को मजबूत बनता है। एक शोध के अनुसार विटामिन डी उचित मात्रा में लेने से, यह हमें उच्च रक्तचाप, कैंसर और भी बहुत बिमारियों से बचाव करता है। इसका मुख्य स्त्रोत सूर्य की धुप है। जब हमारी स्किन धुप के संपृक में आती है तो हमारा शरीर विटामिन डी बनाने लगता है। इसलिए हममे हर रोज कुछ देर धुप में खड़ा होना चाहिए। हम विटामिन डी को भोजन से भी प्राप्त कर सकते है इसके कुछ मुख्य स्त्रोत भोजन में।

Read Also :-

विटामिन इ के स्त्रोत, फायदे, नुकसान (पूरी जानकारी)-Sources of Vitamin E in Hindi

विटामिन ए फायदे,स्त्रोत,नुकसान (पूरी जानकारी )-Source Of Vitamin A in Hindi

विटामिन क्या है (पूरी जानकारी) What is Vitamin In Hindi

Source Of Vitamin D In Hindi

जैसा की हम जानते है विटामिन डी हमारे शरीर के लिए कितना उपयोगी है। और इसका मुख्य स्त्रोत सूर्य की धुप है। जिसे हमारा त्वचा सूर्य की युवी किरणों के संपृक में आने पर विटामिन डी का निर्माण करने लग जाती है। हमारा शरीर केवल 15 से 20 मिंट धुप में खड़े होने पर ही अपनी रोज की जरूरत का 30% भाग पूरा कर लेता है। इसके अन्य स्त्रोत भोजन है। तो क्या आप विटामिन डी को हर रोज उचित मात्रा में ले रहे है? आइये जानते है विटामिन डी के मुख्य स्त्रोत और हमारी रोज की जरूरत।

Benefits Of Vitamin D In Hindi

विटामिन डी का मुख्य काम हड्डियों को मजबूत और स्वस्थ रखना हैं। यह आंतों द्वारा कैल्शियम को अवशोषित करता हैं। और हमारी हड्डियों और मांसपेशियों को मजबूत और स्वस्थ बनाये रखता हैं।

  1. यह हममे सर्दी में बुखार जुखाम से बचाव करता हैं।
  2. हमारे शरीर में इन्सुलिन के लेवल बनाये रखता हैं।
  3. सिमित मात्रा में लिया गया विटामिन गर्भवती महिलाओं के लिए बहुत लाभदायक हैं।
  4. कुछ अध्यनों में पाया गया हैं की विटामिन डी कैंसर के ऊतकों को धीमा कर। कैंसर की कोशिकाओं को खत्म करता हैं।

1. Foods List Of Vitamin D In Hindi

[table id=9 /]

2. Daily Requirement Of Vitamin D Per Day

[table id=10 /]

Deficiency Of Vitamin D In Hindi

Deficiency Of Vitamin D In Hindi
  1. थकान महसूस करना। हलाकि इसके कुछ अलग कारण भी हो सकते है
  2. लेकिन विटामिन डी की कमी पर पर भी यह देखा गया है।
  3. विटामिन डी की कमी होने पर कमर या रीड की हड्डी में दर्द हो सकता है।
  4. तनाव का बढ़ना या होना
  5. बालों का झड़ना
  6. मांसपेसियों में ऐंठन या दर्द

ये सब कारण किसी और बीमारी की वजह से भी हो सकते है। इसलिए अगर आप ऐसी कोई प्रॉब्लम फेस कर रहे हैं। तो डॉक्टर की सलाह जरूर ले। अगर आपको पता है की आपमें विटामिन डी की कमी है तो कुछ देर धुप में खड़े हो ,अच्छा भोजन करें। विटामिन डी से सम्बंदित कोई सप्लेमेंट या दवाई प्रयोग करने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

Side Effect Of Vitamin D In Hindi

side effect of vitamin d In HINDI

अगर विटामिन डी उचित मात्रा में और एक अचे स्त्रोत के साथ लिया जाए तो यह हमारे शरीर के लिए बहुत लाभदायक है। लेकिन विटामिन डी की मात्रा ज्यादा ले रहे है। तो यह आपके लिए परेशानी खड़ी कर सकता है। इसके ज्यादा लेने पर सरदर्द,उलटी आना, भूख न लगना, मुँह का सुखना, नींद न आना, थकान आदि प्रकार की दिक्क़ते आ सकती है। इसलिए विटामिन डी का कोई भी टेबलेट या सप्लीमेंट यूज़ करने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

विटामिन से सम्बंदित पूछे गए कुछ सवाल – जवाब।

Q – vitamin d ki kami ko dur karne ke upay

Q – vitamin d ki kami ka ilaj

Q – vitamin d ki kami me kya khaye

Answer – क्या आप के शरीर में विटामिन डी की कमी है। तो आइये जानते है विटामिन को दूर करने कुछ स्टिक उपाए। सबसे पहले अगर आप को किसी भी प्रकार की शारीरिक दिक्क्त है तो सबसे पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लें। कुछ उप[ए है जिनसे हम विटामिन डी की कमी को पूरा कर सकते है। जैसे हमे सुबह कुछ देर धुप में खड़ा होना चाहिए।क्योकि जब हमारी त्वचा धुप के संपृक में आती है तो ये विटामिन डी का निर्माण करना शुरू कर देती है। हम विटामिन की कमी फूड्स से भी पूरा कर सकते है। जैसे – मछली,अंडे,बादाम,पनीर,दूध,संतरा आदि इसके प्रमुख स्त्रोत है।

vitamin D In Hindi

1 thought on “विटामिन डी के स्त्रोत, फायदे, नुकसान (पूरी जानकारी)- Vitamin d Sources in Hindi”

Leave a Comment