Consolidated चार्ज क्या है – What is Consolidated Charges in Axis Bank in Hindi


जैसा की हम जानते हैं बैंक consolated चार्ज के नाम पर बैंक अकाउंट से कुछ पैसे काट रहे है हर महीने। इसकी ज्यादा शिकायतें अक्सिक्स बैंक के कस्टमर की तरफ से आ रही हैं। और जानना चाहते है की consolated चार्ज क्या है। और बैंक ये चार्ज क्यों लगा रहा है।

Consolidated चार्ज क्या है – What Is Consolidated Charge In Hindi

अक्सिक्स बैंक की वेबसाइट के अनुसार coustmer द्वारा बैंक की हर सर्विस यूज़ करने पर लगाए गए चार्ज को consolated charge कहते है। ये आपके द्वारा पुरे महीने में जितनी भी प्रकार की बैंक सर्विस यूज़ की गयी हैं उनके आधार पर बैंक आपको चार्ज करता है। इसमें हर सर्विस पर बैंक अलग अलग amonut से चार्ज करता है। जो महीने की अंतिम तिथि को उसका टोटल किया जाता है। और कंसलटेड चार्ज के रूप में आपके खाते से कुछ राशि काट ली जाती है।

ये चार्ज किन किन सर्विस को यूज़ कलरने पर बैंक लगाता है।

  • अगर आप अपने खाते में लिमिट से ज्यादा पैसे जमा करते है।
  • अगर आपका चेक बाउंस हो जाता है। कम पैसे होने के कारण।
  • अकाउंट में दी गयी लिमिट के अनुसार पैसे न रखना।
  • एटीएम की सर्विस यूज़ करने पर हलाकि बैंक कुछ ट्रांसक्शन एटीएम द्वारा आपको फ्री भी देता है मंथली
  • चेके बुक के प्रयोग करने पर
  • बैंक की मोबाइल पर दी जाने वाली sms सर्विस को यूज़ करने पर।
  • अगर आप अपना पासवर्ड भूल जाते हैं। और उसे दुबारा पाने के लिए लिए बैंक से रिक्वेस्ट करते हैं। इसके लिए भी बैंक आपको चार्ज करता है।
  • नई चेके बुक लेने पर
  • कोई भी cerficate को दुबारा सबमिट करने पर। जैसे एड्रेस को दुबारा चेंज करने पर।
  • बैंक की किसी अन्य सर्विस को प्रयोग करने पर
  • वार्षिक locker चार्ज
  • i connect या net secure चार्ज के लिए – आपके द्वारा चुने गए अतरिक्त बैंक उत्पादों का प्रयोग करना।

Read Also – क्या आप ऑनलाइन मतदान (Vote) कर सकते हैं जानिए पूरी जानकारी।

ये थी कुछ मुख्य बातें जिनके लिए बैंक आपको मासिक और वार्षिक तौर पर चार्ज करता है। अगर आप की जानकारी के अनुसार आपके बैंक खाते से ज्यादा पैसे कट रहें हो तो। तुरंत अपने नज़दीकी बैंक शाखा से सम्पर्क करें। और अपने अमाउंट और अकाउंट को सुरक्षित रखें।

2 thoughts on “Consolidated चार्ज क्या है – What is Consolidated Charges in Axis Bank in Hindi”

  1. बहुत बकवास नियम है। पब्लिक का पैसा है जब मर्जी कुछ न कुछ चार्ज काट ही लिया जा रहा है। ऐसा व्यवहार करने पर कस्टमरस में अत्यंत रोष है ग्राहकों के अनुरोध से फालतू की सर्विसेज व tax cuting में बैंक को बदलाव करना चाहिए ।
    यदि ऐसा नही होता है तो लोगों को अपना खाता बैंक से बंद कर देना चाहिए, और भी बहुत से ऑप्शन है।

Leave a Comment